हमारे बारे में » सीएसडी का इतिहास
सेना के लिए सेवा

कैनटीन भंडार विभाग, जो सामान्य रुप से सीएसडी से पहचाना जाता है, इसका निर्माण सैनिक, उनका परीवार एवं निवृत्त सैनिकों को ‘प्रतिदिन उपयोगी चीजे उच्च स्तर एवं मार्केट से कम दाम मे’ उपलब्ध कराने के लिए किया गया है ।





आज, वरदीधारी कर्मचारी, निवृत्त सैनिक एवं उनके परिवार की बढती आकांक्षा की वजह से और अपने देश मे जीवन स्तर मे सुधार लाने की माध्यम प्रदर्शन की वजह से, सीएसडी गुणवत्तापूर्ण ब्रॅन्डेड एवं बिना ब्रॅन्डेड वस्तू जैसे शू लेस से मायक्रोवेव्ह ओवन तक और पकाने के तेल से लक्झरी कार्स तक की आपूर्ती करता है । १९४८ मे (जब विभाग का निर्माण किया गया) कुछ प्रतिदिन इस्तेमाल की चिजों के साथ शुरू हुए संविभाग मे वृध्दी होकर अब ४,७५० से भी ज्यादा वस्तूएँ उपलब्ध है । इसमे से हर एक वस्तू एवं ब्रॅन्ड के बारे मे वेब साईट पर जानकारी पाने के लिए ग्राहकों के लाभ के लिए “नो-ऑल” सर्च इंजिन (यहाँ क्लिक करे) उपलब्ध है ।

संगठन रचना

विश्व की अन्य शृंखला जैसे ही सीएसडी का पेशेवर प्रबंधन होता है । भारत सरकार, सुरक्षा मंत्रालय का विभाग जैसे ही केंद्रिय सुरक्षा मंत्रीजी की अध्यक्षता मे मंडलद्वारा इसका नियंत्रण किया जाता है । फिर भी, दिन-प्रतिदिन के कार्य प्रशासन मंडल के प्रमुख सामान्य प्रंबंधकद्वारा, क्वार्टर मास्टर जनरल (क्यूएमजी) की निगरानी मे किया जाता है ।
सीएसडी संगठन रचना के बारे मे ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे ।

फायदे के लिए नहीं

अन्य शृंखला की तरह सीएसडी ने सर्वोत्तम व्यापार प्रथा को अपनाया है, लेकीन कोई भी एवं अन्य शृंखला से विभाग से इसकी अलग खासीयत यह है की इसका उद्देश फायदा कमाने का नही है!

सीएसडी कार्य

सीएसडी व्यापार कार्य सात मूल उत्पादन समूह मे होता है ।

समूह I   -   प्रसाधन सामग्री
समूह II   -   घरेलू जरूरते
समूह III   -   सामान्य उपयोगी वस्तू
समूह IV   -   वॉचेस और लेखन सामग्री
समूह V   -   लिकर
समूह VI   -   खाद्य एवं वैद्यकीय वस्तू
समूह VII   -   ४ व्हिलर्स, २ व्हिलर्स और सफेद वस्तू

यह सभी वस्तूएँ यूआरसी की ऑर्डर है, लेकीन समूह VII मे शामिल वस्तू का संग्रह यूआरसी के पास करना संभव नहीं है और उसे फेक भी नहीं सकते है । इस वजह से, “निश्चित माँग” पर सीएसडी ऐसे वस्तुओं की आपूर्ती करता है ।

आपूर्तीकर्ता

यूआरसी शेल्वज एवं चुनिंदा व्यापार केंद्र (‘‘एएफडी’’ के बारे मे) पर उपलब्ध वस्तुओं की रेंज की आपूर्ती करनेवाले पूरे देशभर के सैकडों आपूर्तीकर्ताओं के साथ विभाग काम करता है । जिनमे अग्रणी बहुराष्ट्रीय, बडी भारतीय कंपनी और बहुत से छोटे उत्पादक, शुरुआत करनेवाले निवृत्त फौजी शामील है ।

ग्राहकों के लिए सर्वोत्तम किंमत हासिल करने के लिए, सीएसडी आपूर्तीकर्ताओं के बीच प्रतिस्पर्धा को प्रोत्साहीत करते है ।

अडेल्फी, सीएसडी का मुख्यालय



विभाग के रणनीतिक दृष्टी से भारत मे ३४ गोदाम है । यह सीएसडी की प्रमुख ताकद है, जिससे जो जरूरी है वह सेवाएँ नजदीकी ४५०० यूआरसी देते है । यह सीएसडी शृंखला के केंद्रस्थल है ।

इससे पहले सभी गोदामों को ‘मातृ’ गोदाम मुंबई से आपूर्ती होती थी, फिर भी, अभी कार्य का विस्तार होने से, विक्रेताओं ने स्थानिय विकल्प मतलब उनके उत्पादन / आपूर्ती केंद्र के पास आपूर्ती का विकल्प दिया है । इससे पूरे कार्य को महत्वपूर्ण फर्क दिखाया है ।

सीएसडी गोदाम नेटवर्क देखने के लिए यहाँ क्लिक करे ।

सीएसडी का ‘सामर्थ्य केंद्र’ छह मंझिल की रचना ‘अडेल्फी’ , यह व्यापारी एवं वित्तीय केंद्र मुंबई के मशहूर चर्चगेट स्टेशन के बाजू मे स्थित है ।

मंडल के प्रशासकीय अध्यक्ष और सीएसडी के सामान्य प्रबंधक, सभी कार्य विभाग के कार्यालय अडेल्फी मे स्थित है, जिसमे शामिल है:

•  प्रबंधक सेवाएँ
•  सचिवालय शाखा
•  वित्तीय एवं हिसाब-किताब
•  कर्मचारी एवं प्रशासन
•  इलेक्ट्रोनिक डेटा प्रोसेसिंग
•  भंडार शाखा (जीएस, एलआयएफ एवं एएफडी विभाग)

सीएसडी के वि‍भागों के बारे मे ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे ।

दूरदृष्टी

सैन्यदल, निवृत्त सैनिक एवं उनके परीवार की बढती प्रबल इच्छा को पूरा करने के लिए पिछले सात दशकों के दौरान विभाग, आर्मी, नेव्ही एवं एअर फोर्स की जरूरतों के प्रतिक्रिया के लिए लंबाई एवं चौढाई से विस्तारीत किया गया है । इस १२ मिलियन बंधे ग्राहकों को अत्यंत विशेष तरीके से अधिकारी प्राप्त हैः सीएसडी इसकी सुनिश्चती करता है की वस्तुओं का पूरा संविभाग, वह जहाँ है वहाँ तक पहुँचे और पूरे नेटवर्क मे समान किमत पर वस्तू उपलब्ध रहे ।

सक्षम इन्वेन्टरी प्रबंधन करने के लिए और ज्यादा से ज्यादा ग्राहक का समाधान पाने के लिए मौजुदा सालों मे विभाग ने अपने कार्य मे उच्च स्तरीय संगणकीकरण का इस्तेमाल किया है ।

विभाग मौजुदा सभी प्रणाली की कार्यक्षमता बढाने के लिए कठोर परीश्रम कर रहा है, जिससे संगठन का खर्च कम होगा, नई वस्तू को प्रतिक्रिया देने मे सुधार होगा और स्थानिय गोदाम एवं यूआरसी पर डिलीवरी जल्द से जल्द होगी । यह सब, १२ मिलियन बंधे ग्राहकों को सही समय एवं सही जगह पर उच्च स्तरीय वस्तूएँ मिलने की सुनिश्चिती करने के लिए है ।