बार बार पूछे जानेवाले सवाल (एफएक्यूज)
सवाल

नई प्रस्तुती

+ सीएसडी मे नए उत्पादन की प्रस्तुती करने के लिए कौनसी कार्यपध्दती करना जरूरी है
+ नई प्रस्तुती के लिए प्रारंभिक ऑर्डर कब देनी चाहिए और रिपीट ऑर्डर कब देनी चाहिए ?

नई यूआरसी का पंजीकरण

+ यूआरसी का पंजीकरण करने के लिए कौनसी कार्यपध्दती करना जरूरी है
+ यूआरसी को कर्ज के लिए कौनसी कार्यपध्दती करना जरूरी है

आपूर्तिकर्ता की तरफ से बैंक गॅरन्टी

+ वित्त एवं लेखा शाखा संबंधित प्रश्नों को कैसे हल किया जाए
+ बैंक गारन्टी क्या है और वह क्यूँ जरूरी है
+ बीजी के लिए विशेष राशी क्या है
+ समाप्त हुए बीजी के नुतनीकरण करने के लिए कौनसी प्रक्रिया है
+ क्या बीजी से छूट दी जाए
+ नई / अतिरिक्त / विस्तृत बैंक गॅरन्टी (बीजी) दाखिल करने का क्या महत्व है

किमत का पुनःपरिक्षण

+ सीएसडी में नई वस्तू की प्रस्तुती के बाद कितने समय बाद किमत पुनःपरिक्षण के लिए अर्जी की जा सकती है
+ सीएसडी की सूचीबध्द वस्तुओं की किमत का परिवर्तन कब एवं कितनी बार किया जा सकता है

वितरण समयतालिका

+ सीएसडीद्वारा दिए गए नियमित खरीदी ऑर्डर के लिए वितरण समयतालिका क्या है
+ ऑर्डर मे विशेष रुप से दिए गए वितरण समयतालिका से ज्यादा समय वितरण के लिए दिया जा सकता है क्या
+ सीएसडी भांडार को वितरण करने की पध्दती क्या है

वस्तू के विशेष गुण में परिवर्तन

+ ग्रामेज / नाम पध्दती / आरेखन रचना / अभिव्यक्ति / केस पैक इ. मे परिवर्तन करने के लिए कौनसी कार्यपध्दती करना जरूरी है

दृढ माँग के खिलाफ (एएफडी)

+ क्या मैं सीएसडी गोदाम से सभी एएफडी-I वस्तू के मॉडेल्स (टीवी, फ्रीज. एसी आदी ) खरीद सकता हूँ
+ कोई नई बाईक / कार / टीवी / फ्रीज का मॉडेल जो कल ही नया आया है । क्या मैं उसे सीएसडीद्वारा खरीद सकता हूँ ॽ अगर नहीं तो, सीएसडी द्वारा वह वस्तू उपलब्ध होने के लिए कितना समय लगेगा
+ कितनी बार मैं नया टीवी / फ्रीज / धुलाइ यंत्र आदी खरीद सकता हूँ
+ मैं निवृत्त सैनिक हूँ, क्या मैं सीएसडीद्वारा चार पहियों का वाहन खरीद सकता हूँ
+ सीएसडीद्वारा चार पहियों का वाहन खरीदने के लिए क्या शर्ते हैं
+ क्या सभी सैनिक दो पहियों का वाहन खरीद सकते हैं
+ दो या चार पहियों का वाहन खरीदने के लिए मुझे अधिकारीक विशेष अनुमती की जरुरी है क्या ॽ अगर है, तो उसे कैसे प्राप्त किया जा सकता है
+ अलग अलग सीएसडी भंडार में वस्तू की किमत में फर्क क्यों होता है
+ क्या सभी राज्यों में सीएसडी ग्राहकों को कर लाभ उपलब्ध है
+ कौनसे राज्य में वॅट से पूरी तरह से छूट मिल सकती है

जवाब

नए वस्तू की प्रस्तुती

सीएसडी में नए वस्तू की प्रस्तुती करने के लिए कंपनी को कौनसी कार्य पध्दती करनी जरूरी है
सीएसडी मे नए वस्तू की प्रस्तुती करने के लिए पाँच चरणों की आसान कार्यपध्दती हैः
नए वस्तू की प्रस्तुती करने के लिए कंपनी को आवेदन अर्जी भरनी होगी, उसे सूचित आवेदन फी, यहाँ उपलब्ध (शृंखला) के साथ दाखिल करना होगा । सभी कंपनीओं के लिए हर एसकेयू के लिए आवेदन फी रु. १५००० है, निवृत्त सैनिको को छोड़कर, जिन के लिए हर एसकेयू के लिए रु. ३००० फी है । यह राशी वापस नहीं दी जाएगी। भुगतान कैन्टीन स्टोअर्स डिपार्टमेन्ट पब्लिक फंड अकौऊन्ट (मुख्य) के नाम से सिर्फ डिमान्ड ड्राफ्टद्वारा जरूरी है । एक आवेदन मे कंपनी ज्यादा से ज्यादा आठ एसकेयूज के लिए आवेदन कर सकती है।
आवेदन को पंजीकरण संख्या दी जाएगी और प्रारंभिक मुल्यांकन किया जाएगा । सीएसडी ऐसे चरण मे कंपनी को कुछ स्पष्टीकरण एवं क्यूरीज के बारे मे अनुरोध करेगी ।
दस्तावेजीकरण पूरा होने के बाद वह फाईल प्रारंभिक जाँच समिती (पीएससी) के पास वस्तू (ओं) के नमुने के साथ दाखिल की जाएगी । समिती की बैठक एक छोड़कर दुसरे महिने मे होती है ।
समिती का निर्णय कंपनी को मेल एवं वेब साईट द्वारा बताया जाएगा । एक बार समिती की तरफ से वस्तू को चुना गया तो आगे का मुल्यांकन किया जाएगा । इसमे मार्केट सर्वेक्षण, कारखाना या गोदाम का निरीक्षण और खाद्य और पेय वस्तूओं की स्वच्छता के बारे मे निरीक्षण करना शामिल है ।
एक बार यह परिक्षण पूरा होने के बाद, संस्था को सीएसडी के साथ किमत की बातचीत करनी होगी । उसके बाद प्रशासन मंडली (बीओए) अंतिम सहमती देंगे । एक बार सभी औपचारिकता पूरी होने के बाद, अंतिम फाईल नई प्रस्तुती के साथ संबंधित भंडार शाखा को देने के लिए और आंरभिक ऑर्डर के लिए भेजी जाएगी ।

कब एक प्रारंभिक ऑर्डर नये परिचय के लिए और कब एक दोबारा ऑर्डर निकाली जा सकती है
सर्क्युलर की स्विकृती पत्र के साथ बैंक गॅरन्टी मिलने के बाद (अगर वह लागू हो तो) नये परिचय सर्क्युलर मे बताई गई राशी के लिए, उत्पादन की हार्ड/सॉफ्ट जेपीइजी कॉपी पेश की जाती है, तो प्रारंभिक ऑर्डर ६० दिन का वितरण समय के साथ निकाला जाता है । प्रारंभिक ऑर्डर को कामियाब तरीके से पूरा करने के एक महिने बाद दोबारा ऑर्डर निकाला जाता है । इसके लिए आपूर्तिकर्ता को अतिरीक्त बैंक गॅरन्टी (अगर लागू हो तो) देनी होगी, जो दोबारा ऑर्डर भंडार शाखा को देने के लिए प्रारंभिक ऑर्डर की राशी के बराबर हो, जिसका वितरण समय ६० दिनों का होगा । सीएसडी भंडार में प्रारंभिक ऑर्डर की रसीद और लिक्वीडेशन मिल जाएगी।
एलएस ऑर्डर के अंतर्गत कोई भी वस्तू के लिए सीएसडीद्वारा कोई दोबारा ऑर्डर नहीं निकाला जाएगा ।

नई यूआरसी का पंजीकरण

यूआरसी का पंजीकरण के लिए कौनसी कार्यपध्दती करना जरूरी है
यूआरसी पंजीकरण होने के पात्र होने के लिए कम से कम १०० नियुक्त व्यक्ति होना बहुत जरूरी है । यह जरूरत अगर पूरी की जाए तो तीन आसान चरणों से यूआरसी का पंजीकरण किया जा सकता है:
नई यूआरसी पंजीकरण के लिए यूआरसी मॅन्युअल या वेबसाईट (www.csdindia.gov.in) पर उपलब्ध अर्जद्वारा आवेदन करना जरूरी है । सभी यूआरसीपर मॅन्युअल उपलब्ध है ।
स्टेटमेंट ऑफ केस (SOC). के साथ उच्च संरचना के सिफारीश के आवेदन की अर्जी आगे भेजी जाएगी ।
पूरी की गई आवेदन अर्जी सहमती के लिए O/o. डीडीजीसीएस को भेजी जाएगी, उसके बाद सचिवालय सीएसडी, मुख्यालय द्वारा पंजीकरण संख्या दी जाएगी । निम्न घटना मे तुरन्त एजीएम (से.) सीएसडी मुख्यालय से संपर्क करेः
• संच की गती
• संच का फिरसे नामकरण
• पुनर्रचना
• विभाजन

यूआरसी कर्ज के लिए आवेदन करने की कौनसी कार्यपध्दती करनी है
यूआरसी कर्ज का आवेदन करने के लिए यहाँ आवेदन अर्जी डाऊनलोड ( www.csdindia.gov.in ) करना । जरूरी दस्तावेज के लिए हमारी वेबसाईट www.csdindia.gov.in दॆखीए ।
रु. २ लाख तक कर्ज की अनुमती सीएसडी सर्वसाधारण प्रबंधक (जीएम) द्वारा दी जाएगी ।
रु. २ लाख – ५ लाख तक की कर्ज की अनुमती प्रशासन मंडल (बीओए) द्वारा की जाएगी, जिसकी बैठक हर दूसरे महिने में होती है ।
५ लाख से २५ लाख तक के कर्ज की अनुमती क्वार्टर मास्टर जनरल (क्यूएमजी) द्वारा बीओए की सिफारीश पर दि जाएगी ।
कर्ज सिर्फ भांडार के रुप मे दिया जाएगा, अलग चेक्स नहीं दिए जाएंगे ।
यूआरसी को पहले कर्ज का भुगतान सात सालों के अंदर और दूसरे कर्ज का भुगतान छह सालों के अंदर करना होगा ।
पहले कर्जपर ४.५% ब्याज लगाया जाएगा, और दूसरे कर्जपर ६.५% ब्याज लगाया जाएगा ।

बैंक गैरन्टी (बीजी)

वित्त एवं लेखा शाखा संबंधी प्रश्नों को कैसे हल किया जाए
वित्त एवं लेखा शाखा संबंधी सभी शंका के लिए aaocoord@csdindia.gov.in यहाँ मेल करें । अगर समस्या का समाधान नहीं हुआ, तो आपूर्तिकर्ता के साथ बैठक का आयोजन किया जा सकता है ।

बैंक गैरन्टी क्या है और वह क्यूँ जरुरी है

ग्राहक को बड़ी मात्रा में आपूर्ति के लिए सीएसडी पूरे देशभर में हिस्सेदारों के साथ सहयोग देता है । पहले वस्तुओं की आपूर्ति सीएसडी गोदामों में की जाती है, उसके बाद उनकी जरुरत के अनुसार देशभर के हजारों यूआरसीज में वस्तुओं का वितरण किया जाता है ।
भुगतान के साथ आपूर्तिकर्ता द्वारा सीएसडी को वितरित की गई वस्तुओं का भुगतान निर्धारित वजह के लिए किया जाता है ।
करार की गई जिम्मेदारी निभाने के लिए कर्जदार अगर असफल रहता है तो उसका भुगतान बैंक करेगी ऐसा वचन देने के लिए बैंक गैरन्टी कार्य करता है । इस प्रकार, सीएसडी को आपूर्तिकर्ता की बीजी कम दर्जे की / खराब / न चलनेवाले वस्तूओं के सुरक्षा रक्षक के रुप में कार्य करता है । विस्तृत सूची में जमा करने के लिए जिसमें ऑर्डर शामिल है, ज्यादा मात्रा में ऑर्डर देने के लिए बीजी प्रतिबंध करता है, जिससे बीजी राशी से ज्यादा माल जमा नही होगा । किसी भी आपूर्तिकर्ता के बारे में बुरा डेब्ट ना हो इसकी सुनिश्चिती के लिए ऐसे उपाय करना सरकारी निधी की हानी न हो इसके लिए जरूरी है ।

बीजी के लिए निर्धारित राशी क्या है
बैंक गैरन्टी की राशी, सीएसडीद्वारा आपूर्तिकर्ता को की गई प्रारंभिक ऑर्डर के मूल्य जितनी होनी चाहिए । फिर भी, वस्तू की विक्री रचना के अनुसार यह राशी बढाई या घटाई जा सकती है । यह संबंधित भंडार की पूर्व सहमती के बाद ही हो सकती है । कुल राशी मे जमा माल, पारवहीत माल मतलब जो आनेवाला एवं जमा करने के लिए दिया गया ऑर्डर भी शामिल है ।

अवधी समाप्त बीजी के नुतनीकरण करने की प्रक्रिया क्या है
सीएसडी के साथ वित्त एवं लेखा शाखा एक साथ संबंधित भंडारसहीत बीजी के नूतनीकरण / विस्तार के बारे मे बैंक एवं आपूर्तिकर्ता को विवरण की आपूर्ति करेंगे । यह बीजी समाप्त होने की तारीख से पहले कम से कम तीन महिने पहले किया जाएगा । बीजी का नूतनीकरण होनेतक सभी भुगतान रोक दिए जाएंगे । बीजी का अगर नूतनीकरण नही हुआ तो, सीएसडी सूचना देकर बैंक को कानूनी कारवाई करने का अनुरोध करेगी । यह बीजी समाप्त होने की तारीख से पहले सात दिन पहले किया जाएगा ।

क्या बीजी से छुट मिल सकती है
जो संस्था निम्न मापदंड पूरा करती है, सिर्फ वह बीजी से छुट के लिए अनुरोध कर सकती हैः  कंपनी अगर पिछले कम से कम पाँच साल से सीएसडी को वस्तूओं की आपूर्ति कर रहा है ।  पिछले पाँच सालों की कुल सालाना बिक्री कम से कम पाँच करोड़ होनी चाहिए । इसका मतलब पिछले पाँच सालों मे रु. २५ करोड़ से ज्यादा कुल बिक्री होनी चाहिए ।  अगर पिछले दो सालों से कंपनी की कुल बिक्री रु. पाँच करोड़ से ज्यादा है ।  बीजी के खिलाफ आवाहन करने की जरुरत होगी तो, पिछले तीन सालों में कोई भी माल आपूर्तिकर्ता को वापस लौटाने की एक भी घटना नही होनी चाहिए । निवृत्त सैनिक की संस्था बीजी से छुट मिलने का अनुरोध, निम्न मापदंड पूरा करनेपर कर सकती हैः  संस्था अगर पिछले कम से कम पाँच सालों से सीएसडी को वस्तूओं की आपूर्ति कर रही है ।  पिछले पाँच सालों की सालाना कुल बिक्री कम से कम रु. २.५ करोड़ की होनी चाहिए । इसका मतलब पिछले पाँच सालों की कुल बिक्री रु. १२.५ करोड़ होनी चाहिए ।  संस्था की पिछले दो सालों की कुल बिक्री हर साल में रु. २.५ करोड़ से ज्यादा होनी चाहिए ।  बीजी के खिलाफ आवाहन करने की जरुरत होगी तो, पिछले तीन सालों में कोई भी माल आपूर्तिकर्ता को वापस लौटाने की एक भी घटना नहीं होनी चाहिए ।

नई / अतिरीक्त / विस्तृत बैंक गॅरन्टी (बीजी) दाखील करने का महत्व क्या है
बैंक गॅरन्टी के अंदर वस्तू के ऑर्डर का प्रमाण विभाग के पास उपलब्ध बैंक गॅरन्टी राशी की मर्यादा में होना चाहिए । नई / अतिरीक्त / विस्तृत बैंक गॅरन्टी महिने की ५ तारीख या उससे पहले प्राप्त नहीं हुई तो, उसे मौजुदा महिने के ऑर्डर प्रमाण के मूल्य को पीआरजीओ पुनःपरिक्षण में शामिल नहीं किया जाएगा । बीजी की अवधी समाप्त होने से ९० दिन पहले, विस्तृत बीजी को भंडार शाखा में दाखील करना आवश्यक है, इसमें असफल हुए तो विस्तृत बीजी प्राप्त होने तक इंडेक्स का नया ऑर्डर नहीं दिया जाएगा । उपर बताए निर्देशोंपर ध्यान ना देने की वजह से, वित्त एवं लेखा शाखा भुगतान रोकेगी और बँकर को बीजी भुगतान के लिए संपर्क करेगी । इसलिए, सभी आपूर्तिकर्ताओं को सलाह दी जाती है की, वह बीजी जमा करने के लिए सतर्क रहें ।

किमत का पुनःपरिक्षण

सीएसडी में नई वस्तू की प्रस्तुती के बाद कितने समय बाद किमत पुनःपरिक्षण के लिए अर्जी की जा सकती है
नए परिचय परिपत्र की तारीख से एक साल के लिए किमतों में रद्दबदल किया जा सकता है।

सीएसडी सूचीबध्द वस्तू की किमत का परिवर्तन कब और कितनी बार किया जा सकता है
कोई भी संस्था सूचीबध्द वस्तू की किमत का परिवर्तन करने का अनुरोध एक साल बाद नई प्रस्तुती परिपत्र की तारीख पर कर सकते हैं । इसको उस वक्त के नागरी बाजार में वस्तूओं की एमआरपी बढ़ने का परिवर्तन होने का प्रतिबंध है । फिर भी, इसपर समय की कोई भी पाबन्दी नहीं है, किमतों का घटता परिवर्तन पूर्व प्रभाव से भी लागू हो सकता है । संस्था साल में दो बार किमत परिवर्तन का आवेदन कर सकती है । ताजी लागू की गई तारीख और पिछले किमत परिवर्तन की तारीख में कम से कम तीन महिनों का अंतर होना जरुरी है । उसके बाद सीएसडी आवेदन का मुल्यांकन करेगी । इस कार्यपध्दती में किमत के बारे में बातचीत करना शामिल हो सकता है । आवेदन प्राप्त होने की तारीख में कम से कम नब्बे दिन लगेंगे, उसके बाद सुधारीत राशी भांडार पर लागू होगी । इसे मार्केट सर्वेक्षण के दौरान वस्तू की उपलब्धता का प्रतिबंध है । सीएसडी पहले आए पहले दिए (एफआयएफओ) प्रणाली का इस्तेमाल प्राप्त किए आवेदन को निपटाने के लिए करती है, इसके लिए सभी दस्तावेज सही क्रम में होने का प्रतिबंध है । सीएसडी के साथ सहमती, शर्तों के अनुसार कंपनी को वस्तूओं की आपूर्ति किमत के परिवर्तन को सहमती मिलने तक पहले तय किए गए अनुसार करनी होगी । ऐसा करने में असफलता हुई तो इसके परिणाम स्वरुप दंड होगा और सीएसडी के जमा सामान से उस वस्तू को निकाला जाएगा ।

वितरण समयतालिका

सीएसडीद्वारा दिए गए नियमित खरीदी ऑर्डर्स के लिए वितरण समयतालिका क्या है
महिना आपूर्ति के लिए वितरण समयतालिका निम्न जैसी हैः • नियमित ऑर्डर – एक्स–बेस आपूर्ति महिने की ०१ से २० तारीख तक • नियमित ऑर्डर – सिधी आपूर्ति महिने की ०१ से २७ तारीख तक • स्थानीय आपूर्ति ऑर्डर – सिधी आपूर्ति ऑर्डर की तारीख्र से २१ दिन

विशेष रुप से दिए गए वितरण समयतालिका से ज्यादा समय वितरण के लिए दिया जा सकता है क्या
हाँ, लेकीन यह ऑर्डर में दि गई वितरण की आखरी तारीख से पंद्रह दिनों के अंदर बिल के मुल्यपर २% जुर्माने के साथ स्विकारा जाएगा । पंद्रह दिन के बाद ऑर्डर रद्द समझी जाएगी और उस ऑर्डर का माल स्विकारा नहीं जाएगा। यह जुर्माना पूरा / अंशतः आपूर्ति न हुए हिस्सेपर लगाया जाएगा ।

सीएसडी भांडार को वितरण करने की पध्दती क्या है
सीएसडी भांडार को वितरण करने की दो पध्दती है: एक्स-बेस भांडारः आपूर्तिकर्ता हर राज्य में क्लिअरींग ‍ॲन्ड फॉरवर्डींग एजन्टस (सी ॲन्ड एफए) के बगैर मुंबई के एक्स-बेस भांडार को वस्तूओं की आपूर्ति कर सकता है । इसको भाड़े की छूट लागू होगी । आरंभिक भाड़े की छूट पीएनसी के दौरान तय की जाएगी; मौजुदा मार्केट किमत और वहन करनेवाली वस्तू / किमत के आधारपर इसे सालाना बढ़ाया जाएगा जो १ अप्रैल से लागू होगी । यह पध्दती सिर्फ मुख्यालय की ऑर्डर के वस्तूओं को लागू होगी । सिधी आपूर्तीः हर राज्य में सी ॲन्ड एफएज के साथ आपूर्तिकर्ता सभी सीएसडी भांडार को वस्तूओं की सिधी आपूर्ति कर सकता है, इसका मतलब सिधी आपूर्ति (मतलब एफ.ओ.आर. : गंतव्य स्थान (दरवाजे पर वितरण) । इसको भाड़े की छूट लागू नहीं होगी । यह वितरण की पध्दती मुख्यालय एवं स्थानीय ऑर्डर को लागू है ।संस्था ने सी ॲन्ड एफए में बदलाव किया तो इसकी सूचना तुरन्त भांडार शाखा को देना जरुरी है । सीएसडी ग्राहक को किमत लाभ का मुल्यांकन करने के बाद शाखाएँ बदलाव को सहमती देगी ।

वस्तू के विशेष गुण में परिवर्तन

ग्रामेज / नाम पध्दती / आरेखन रचना / अभिव्यक्ति / केस पैक आदी. मे परिवर्तन करने के लिए कौनसी कार्यपध्दती करना जरुरी है
आपूर्तिकर्ता को हमेशा सीएसडी को आपूर्ति किए वस्तूओं की गुणवत्ता नागरी मार्केट की गुणवत्ता के समान होने की सुनिश्चिती करनी होगी । सीएसडी अपने आपूर्तिकर्ताओं को प्रबल रुप से प्रेरीत करती है की ग्रामेज / नाम पध्दती / आरेखन रचना / अभिव्यक्ति / केस पैक आदी. में परिवर्तन करने के लिए करने से पहले पर्याप्त समय में सूचित करे । संस्था के बदलाव सहमती के लिए जरुरी दस्तावेज के साथ बदलाव का स्पष्टीकरण करनेवाली अर्जी को दाखिल करना होगा । एक बार भांडार शाखाओं ने सहमती देने के बाद , उस वस्तू को सीएसडी के सभी भांडारों की आपूर्ति करनी होगी । इसमें कोई विचलन हुआ तो विभाग की नीती अनुसार दंड किया जाएगा ।

दृढ माँग के विरुध्द (एएफडी)

क्या मैं सीएसडी गोदाम से एएफडी – I वस्तू के सभी मॉडल्स (टीवी, फ्रीज. एसी आदी.) खरीद सकता हूँ
नहीं, सीएसडी की सूची में उपलब्ध मॉडल्स ही सिर्फ सीएसडीद्वारा खरीदे जा सकते हैं ।

नई बाईक / कार / टीवी / फ्रीज के मॉडल्स कल ही बाजार में प्रस्तुत किए गए । क्या इसे मैं सीएसडीद्वारा खरीद सकता हूँ ॽ अगर नहीं तो, वह वस्तू सीएसडीद्वारा उपलब्ध होने के लिए कितना समय लगेगा
सीएसडी भांडार द्वारा सभी वस्तू को उपलब्ध कराने के लिए गुणवत्ता निश्चिती एवं यथा संभव सर्वोत्तम किमत को कठोर मुल्यांकन से गुजरना पड़ता है । दुर्भाग्य से नए प्रस्तुत की गई वस्तुएँ सीएसडीद्वारा तुरन्त उपलब्ध नहीं होगी । फिर भी, वस्तुएँ सीएसडीद्वारा उपलब्ध होने के लिए कम से कम तीन से चार महिने का कालावधी लगता है ।

मैं नया टीवी / फ्रीज / वॉशिंग मशीन आदी. कितनी बार खरीद सकता हूँ
सभी सीएसडी ग्राहक ऐसी वस्तूएँ तीन सालों में एक बार खरीद सकते हैं

मैं निवृत्त सैनिक हूँ, क्या मैं सीएसडीद्वारा चार पहियों का वाहन खरीद सकता हूँ
हाँ, कुछ विशेष स्थिती में सीएसडी निवृत्त सैनिक की सहाय्यता का स्वागत करता है

सीएसडीद्वारा ४ पहियों का वाहन खरीदने के लिए कौनसी शर्तें हैं
सीएसडीद्वारा ४ पहियों का वाहन खरीदने के लिए निम्न शर्तों का पालन करना जरुरी हैः

                                                                                                   



क्या सभी सैनिक दो पहियों का वाहन खरीद सकते हैं
निश्चित रुप से, सीएसडी सशस्त्र दल के हर एक श्रेणी को २ पहियों का वाहन देने का प्रस्ताव देती है । फिर भी, २ पहियों का वाहन हर तीन साल के बाद खरीदा जा सकता है ।

दो या चार पहियों का वाहन खरीदने के लिए मुझे अधिकारीक विशेष अनुमती की जरुरत है क्या ॽ अगर है तो, उसे मैं कैसे प्राप्त कर सकता हूँ
सीएसडी ग्राहक की सुविधा के लिए, दो पहियों का वाहन खरीदने के लिए अधिकारीक विशेष अनुमती की जरुरत नहीं है । सीएस निदेशालय द्वारा केंद्रीकृत कार मंजूरी को 20 जुलाई 2015 से रोक दिया गया है। 

अलग अलग सीएसडी गोदामों में समान वस्तू की किमतो में फर्क क्यूँ है
दुर्भाग्य से, अलग अलग राज्यों की कर रचना में फर्क होने की वजह से सीएसडी पूरे देशभर एक जैसी किमत रखने में असमर्थ है

क्या सभी सीएसडी ग्राहक को कर लाभ उपलब्ध है
दुर्भाग्य से, कर लाभ सभी राज्यों में उपलब्ध नहीं है । कुछ राज्य पुरी तरह छूट देते हैं, तो अन्य राज्य कुछ रियायत देते हैं

कौनसा राज्य वॅट में पूरी तरह छूट देता है
गुजरात, तामिलनाडू, झारखंड और उत्तर प्रदेश राज्य सीएसडी को करों में पूरी तरह छूट देते हैं, तो पंजाब, हरयाना, मध्य प्रदेश इ. राज्य करों में कुछ रियायत देते हैं